World History Important Facts

0 0
Read Time:12 Minute, 15 Second

विश्व का इतिहास
विश्व इतिहास महत्वपूर्ण तथ्य


विश्व इतिहास महत्वपूर्ण तथ्य – इस लेख में विश्व इतिहास से सम्बन्धित महत्वपूर्ण तथ्यों ( World History Important Facts ) को प्रश्न उत्तरों के रूप में दिया गया है।पुनर्जागरण का परारभ इटली के फ्रलोरेस नगर से माना जाता है

दाँतेः

  • इटली के महान कवि दाँते (1260-1321 ई.) का पुनर्जागरण का अग्रदूत माना जाता है।
  • इनका जन्म फ्लोरेंस नगर में हुआ था।
  • दाते ने प्राचीन लैटिन भाषा को छाड़कर तत्कालीन इटली की बोल-चाल की भाषा ‘टस्कन’ मे ‘डिवाइन कॉमेडी’ नामक काव्य लिखा। इसमे दाँते ने स्वर्ग और नरक की एक काल्पनिक यात्रा का वर्णन किया है।


पेंटार्क:

  • इटली निवासी।
  • दाँते के बाद पुनर्जागरण की भावना का परश्रय देनेवाला दूसरा व्यक्ति पेंटार्क (1304-1367) था।
  • पेंटार्क को मानववाद का संस्थापक माना जाता है।


बोकेशियो:

  • इटालियन गद्य का जनक कहानीकार बोकेशियो (सन् 1313-1375 ई.) का माना जाता है।
  • डेकामेरॉन परसिद्ध पुस्तक है।


मैकियावेली:

  • आधुनिक विश्व का परथम राजनीतिक चिन्तक फ्रलोरेंस निवासी मैकियावेली (1469-1567 ई.) का माना जाता है।
  • मैकियावेली की परसिद्ध पुस्तक है : द प्रिन्स, जा राज्य का एक नवीन चित्र परस्तुत करती है।
  • आधुनिक राजनीतिक दर्शन का जनक मैकियावेली का कहा जाता है।
  • पुनर्जागरण की भावना की पूर्ण अभिव्यक्ति इटली के तीन कलाकारां की कृतियो मे मिलती है। ये कलाकार थे- लियोनार्दो द विंची, माइकेल एंजेलो और राफेल।


लियोनार्दो द विंचीः

  • चित्रकार, मूर्तिकार, इंजीनियर, वैज्ञानिक, दार्शनिक, कवि और गायक।
  • लियानार्दो द विची ‘द लास्ट सपर’ और ‘मोनालिसा’ नामक अमर चित्रों के रचयिता होने के कारण प्रसिद्ध है।


माइकल एंजेलोः

  • अदभुत मूर्तिकार एवं चित्रकार।
  • ‘द लास्ट जजमेट’ एव ‘द फाल ऑन मैन’ माइकल एंजलो की कृतिया है।
  • सिस्तान के गिरजाघर की छत में माइकल एंजेलो के द्वारा ही चित्र बनाये गये है।


रॉफेलः

  • इटली का एक चित्रकार।
  • सर्वश्रेष्ठ कृति जीसस क्राइस्ट की माता मेडोना का चित्र है।


जियाटोः

  • पुनर्जागरण काल में चित्रकला का जनक।
  • फ्रांसिस बेकनः
  • पुनर्जागरण काल का सर्वश्रेष्ठ निबधकार
  • इंगलैंड निवासी।


इरासमसः

  • हाॅलैंड निवासी।
  • अपनी पुस्तक ‘द परेज ऑफ फौली’ मे व्यंग्यात्मक ढग से पादरियो के अनैतिक जीवन एव इसाई धर्म की कुरीतियो पर परहार किया है।


टॉमस मूरः

  • इंग्लैंड के लेखक
  • अपनी पुस्तक ‘यूटोरिया’ में आदर्श समाज का चित्र परस्तुत किया है।


मार्टिन लूथर

  • जर्मनी निवासी।
  • धर्म-सुधार आन्दोलन की शुरुआत का प्रवर्तक।
  • जर्मन भाषा मे बाइबिल का अनुवाद प्रस्तुत किया है।


रोजर बेकनः

  • इंग्लैंड निवासी।
  • आधुनिक प्रयागात्मक विज्ञान का जन्मदाता माना जाता है।

धर्म-सुधार आन्दोलनः

  • धर्म-सुधार आन्दोलन की शुरुआत 16वीं सदी मे हुई।
  • धर्म-सुधार आन्दालन की शुरुआत का प्रवर्तक मार्टिन लूथर था।
  • धर्म-सुधार आन्दोलन की शुरुआत इंग्लैंड़ मे हुई।
  • जॉन विकलिफ का धर्म-सुधार आन्दोलन का प्रातःकालीन तारा कहा जाता है। इसके अनुयायी लोलाडर्स कहलाते थे।
  • अमेरिका की खोज क्रिस्टोफर कोलम्बस ने की थी।
  • अमेरिगो बेस्पुसी (इटली) के नाम पर अमेरिका का नाम अमेरिका पड़ा।
  • परशान्त महासागर का नामकरण स्पेन निवासी मैगलन ने किया।
  • समुदरी माग से सम्पूर्ण विश्व का चक्कर लगानेवाला प्रथम व्यक्ति मैगलन था।
  • पृथ्वी सौरमंडल का केन्द्र है : इसका खंडन सव ररथम पालैंड़ निवासी कोपरनिकस ने किया।
  • गैलीलिओ (1560-1642 ई.) ने भी कापरनिकस के सिद्धांत का समर्थन किया।
  • जर्मनी के परसिद्ध वैज्ञानिक केपला या केपलर (1571-1630 ई.) ने गणित की सहायता से यह बतलाया कि गरह सूर्य के चारो ओर किस प्रकार घूमते हैं।
  • न्यूटन (1642-1726 ई.) ने गुरूत्वाकर्षण के नियम का पता लगाया।


फ्रांस की राज्यक्राति:

  • समानता, स्वतत्राता और बन्धुत्व का नारा फ्रांस की राज्यक्राति की देन है।


लुई सोलहवाँः

  • फ्रांस की राज्यक्रांति 1789 ई. मे लुई सोलहवाँ के शासनकाल में हुई। इस समय फ्रांस में सामन्ती व्यवस्था थी।
  • “मैं ही राज्य हूँ और मेरे शब्द ही कानून हैं।” यह कथन हैं-लुई चादहवाँ का।
  • वर्साय के शीशमहल का निर्माण लुई चादहवा ने बनाया था।
  • वर्साय का फ्रांस की राजधनी लुई चादहवाँ ने बनाया था।
  • लुई सोलहवा 1774 ई. मे फ्रांस की गद्दी पर बैठा।
  • लुई सोहलवा की पत्नी मेरी एंत्वानेत आस्टिंया की राजकुमारी थी।
  • लुई सोलहवा को देशद्रोह के अपराध मे फांसी दी गई।


बास्तील:

  • फ्रांस का एक किला
  • 14 जुलाई, 1789 ई. का क्रांतिकारियो ने बास्तील के कारागृह के फाटक को तोड़कर बदियां का मुक्त कर दिया।
  • तब से 14 जुलाई को फ्रांस में ‘राष्ट्रीय दिवस’ के रूप मे मनाया जाता है।


टैले:

  • एक परकार का भूमि कर था।


वाल्टेयरः

  • फ्रांसीसी क्राति मे वाल्टेयर, माँटेस्क्यू एव रूसो ने सर्वाधकि यागदान किया।
  • वाल्टेयर चर्च का विरोधी था।
  • लेटर्स ऑन इंगलिश वाल्टेयर की रचना है।
  • “सा चूहो की अपेक्षा एक सिंह का शासन उत्तम है” यह उक्ति वाल्टेयर की है।


रूसो:

  • फ्रांसीसी क्राति मे रूसो, माँटेस्क्यू एव वाल्टेयर ने सर्वाधकि यागदान किया।
  • रूसो फ्रांस में परजातंत्रात्मक शासन पद्धति का समथ र्क था।
  • सोशल कांटैंक्ट रूसां की रचना है।


माँटेस्क्यूः

  • फ्रांसीसी क्राति में माँटेस्क्यू, रूसो एवं वाल्टेयर ने सर्वाधकि यागदान किया।
  • ‘कानून की आत्मा’ की रचना माटेस्क्यू ने की थी।


हर्डर:

  • फ्रांसीसी क्राति में योगदान
  • सांस्कृतिक राष्ट्रीयता का जनक हर्डर को कहा जाता है।

नेपोलियन:

  • नेपोलियन का जन्म 15 अगस्त, 1769 ई. का कोसि र्का द्वीप की राजधनी अजासियो में हुआ था।
  • नेपोलियन के पिता का नाम कार्लो बोनापार्ट था।
  • नेपोलियन ने ब्रिटेन के सैनिक अकादमी में शिक्षा पराप्त की।
  • 1796 ई. मे नेपोलियन ने इटली में आस्टिंया के प्रमुख को समाप्त किया।
  • नेपोलियन 1799 ई. मे परथम कॉन्सल बना और 1802 ई. मे जीवनभर के लिए कॉन्सल बना।
  • 1804 ई. मे नेपालियन फ्रांस का सम्राट बना।
  • आधुनिक फ्रांस का निर्माता नेपोलियन को माना जाता है।
  • नेपोलियन ने ही सर्वपरथम इंग्लैंड को ‘बनियो का देश’ कहा था।
  • नेपोलियन ने पत्नी जोजेफाइन को तलाक देकर आस्टिंया की राजकुमारी मोरिया लुइसा से शादी की।
  • टांल्फगर का युद्ध 21 अक्टूबर, 1805 ई. मे इंग्लैंड एव नेपोलियन के बीच हुआ।
  • नेपोलियन के बैक ऑफ फ्रांस की स्थापना 1800 ई. मे की।
  • नेपोलियन ने कानूनां का संगरह तैयार करवाया, जिसे नेपोलियन का कोड कहा जाता है।
  • नेपोलियन का नील नदी के युद्ध मे अंग्रेजी जहाजी बेड़े के नायक नेल्सन के हाथो बुरी तरह पराजित हाना पड़ा।
  • यूराप के राष्ट्रों ने मिलकर 1813 ई. मे नेपोलियन को लिपजिग नामक स्थान पर हरा दिया और उसे बन्दी बनाकर एल्बा के टापू पर भेज दिया गयाऋ परन्तु वह एल्बा से भाग निकला और पुनः फ्रांस का सम्राट बना।
  • अन्ततः मित्राराष्टों की सेना ने नेपोलियन को 18 जून, 1815 ई. का वाटरलू के युद्ध में पराजित कर बन्दी बना लिया और उसे सेंट हेलेना द्वीप पर भेज दिया। वहा 1821 ई. मे उसकी मृत्यु हा गयी। नेपोलियन ‘लिटिल कारपोरल’ के नाम से जाना जाता है।
  • नेपोलियन के पतन का कारण था, उसका रूस पर आक्रमण करना।
  • इंग्लैंड के वाणिज्य एव व्यापार का बहिष्कार करने के लिए नेपोलियन ने महाद्वीपीय व्यवस्था का सूत्रापात किया था।
  • विएना कांग्रेस समझौता के तहत यूराप के राष्ट्रों ने 1815 ई. मे फ्रांस के प्रभुत्व को समाप्त किया।
  • माप-तौल की दशमलव परणाली फ्रांस की देन है।

रूसी क्रांति:
रॉबर्ट ओवेन:

  • वेल्स निवासी।
  • समाजवाद शब्द का सर्वपरथम प्रयाग।
  • आदर्शवादी समाजवाद का परवक्ता रॉबर्ट ओवेन को माना जाता है।

कार्ल मार्क्स:

  • जर्मनी निवासी।
  • वैज्ञानिक समाजवाद का संस्थापक।
  • कार्ल मार्क्स ने ‘दास कैपिटल’ और ‘कम्युनिस्ट मैनीफेस्टो’ नामक पुस्तक लिखी है।
  • ‘दुनिया के मजदूरो एक हो’ का नारा कार्ल मार्क्स ने दिया।
  • कार्ल मार्क्स का आजीवन साथी रहा-फ्रेडरिक एंजेल्स।

सेंट साइमन:

  • फ्रांसीसी साम्यवाद का जनक सेंट साइमन को माना जाता है।

जॉर्ज बर्नाड शॉ:

  • फेबियन सोशलिज्म का नेतृत्व जॉर्ज बर्नाड शॉ ने किया।
  • लदन में फेबियन सोसायटी की स्थापना 1884 ई. मे हुई।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.