Noun- Basic knowledge of Hindi language

0 0
Read Time:4 Minute, 13 Second

संज्ञा- हिंदी भाषा का बुनियादी ज्ञान

  • संज्ञा किसे कहते है- किसी व्यक्ति, वस्तु, नाम आदि के गुण, धर्म व स्वभाव का बोध कराने वाले शब्द संज्ञा कहलाते है।
  • संज्ञा के भेद है – व्यक्तिवाचक, जातिवाचक, भाववाचक, समुदाय वाचक और द्रव्यवाचक
  • व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं – जिस शब्द से किसी विशेष व्यक्ति, स्थान अथवा वस्तु का बोध हो वह व्यक्तिवाचक संज्ञा कहलाती है। इसमें व्यक्तियों के नाम, दिशाएं, देश, पहाड़ों के नाम, समुद्र, दिन-महीने, पुस्तक, समाचार पत्र, त्यौहार व उत्सव, नगर, सडक़, चौक के नाम, ऐतिहासिक युद्ध, राष्ट्रीय जाति, नदियों के नाम
  • जातिवाचक संज्ञा कहलाती है – जिस संज्ञा शब्द से उसकी सम्पूर्ण जाति का बोध हो वह जातिवाचक संज्ञा कहलाती है। इसमें पशु-पक्षियों के नाम, वस्तुओं के नाम, प्राकृतिक आपदा, सामाजिक सम्बन्ध, पद और कार्य के नाम
  • भाव वाचक संज्ञा किसे कहते हैं – जिस संज्ञा शब्द से पदार्थो की अवस्था, गुण, दोष, धर्म आदि का बोध हो। भाव वाचक संज्ञा अधिकांशत: प्रत्ययों से बनती है, जिनमें क्रदंत और तद्वित प्रत्यय है। कृदंत धातुओं से और तद्वित विशेषण व सर्वनाम से बनते है।
  • समुदाय वाचक संज्ञा कहलाती है – जिन संज्ञा शब्दों से व्यक्तियों वस्तुओं आदि के समूह का बोध हो उन्हें समुदाय वाचक संज्ञा कहते है। जैसे कक्षा, भीड, सभा, गुच्छा, मण्डल, झुण्ड आदि
  • द्रव्यवाचक संज्ञा है- जिन संज्ञा शब्दों से किसी धातु, द्रव्य आदि पदार्थो का बोध हो उन्हें द्रव्यवाचक संज्ञा कहते है। जैसे तेल, चांदी, सोना, चावल, पीतल, कोयला
  • मानवता शब्द में संज्ञा है – भाववाचक
  • वात्सल्य के वत्स शब्द में संज्ञा है – भाववाचक
  • देव संज्ञा शद का विशेषण है -दैवीय
  • संज्ञा के भेद होते हैं – पांच (व्यक्ति, जाति, भाव, द्रव्य और समुदाय वाचक)
  • संज्ञा का भेद नहीं है – गुणवाचक
  • ‘इन्हीं जयचंदों के कारण देश पराधीन हुआ’ वाक्य में तिरछे शब्द की संज्ञा है – जातिवाचक
  • भाववाचक संज्ञा ‘औचित्य’ में मूल शब्द है – उचित
  • लडक़ा शब्द का भाव वाचक संज्ञा होगी – लडक़पन
  • स्त्रीत्व शब्द में कौन सी संज्ञा है – भाव वाचक संज्ञा
  • सफेदी शब्द है – भाव वाचक संज्ञा
  • सच्चरित्रता किस मूल शब्द से बना है – चरित्र से
  • जवान, बालक, सुंदर, मनुष्य में कौनसा शब्द जातिवाचक संज्ञा नहीं है – सुंदर
  • डकैती, आलसी, हरियाली, धीरज में भाव वाचक संज्ञा का उदाहरण नहीं है – आलसी
  • बुढापा भी अभिशाप है इस वाक्य में बुढापा संज्ञा है – भाव वाचक संज्ञा की।
  • ईश्वरत्व है – भाव वाचक संज्ञा
  • निजत्व संज्ञा निर्मित है – सर्वनाम से
  • विद्धवता, सेना, बचपन, दुःख में जातिवाचक संज्ञा है – सेना
  • परिष्कार, हरियाली, मिलावट संज्ञाएं है – भाव वाचक
  • पानी कौनसी संज्ञा है – जातिवाचक
  • लाल बहादुर शास्त्री भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री थे। यशस्वी संज्ञा है – व्यक्तिवाचक
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *