History of Bihar

0 0
Read Time:7 Minute, 19 Second

बिहार का इतिहास

  • पाटलिपुत्र की स्थापना उदयन ने की थी ।
  • द्वितीय बौद्ध संगीति का आयोजन कालाशोक के शासन में किया गया था।
  • मौर्यकाल में सर्वाधिक प्रसिद्ध शिक्षा केंद्र तक्षशिला था ।
  • अशोक के शिलालेख में प्रयुक्त भाषा प्राकृत है।
  • मेगास्थनीज के पुस्तक इंडिका से राजधानी पाटलिपुत्र के नगर प्रशासन एवं सैन्य प्रशासन की जानकारी मिलती है।
  • बिंदुसार आजीवक सम्प्रदाय का अनुयायी था ।
  • अशोक के अभिलेखों को सर्वप्रथम जेम्स प्रिन्सेप ने सफलतापूर्वक पढ़ा था ।
  • पुष्पमित्र शुंग ने शुंग वंश की स्थापना थी ।
  • आर्यभट्ट ने गुप्तकाल में आर्यभट्टीयम एवं सूर्य सिद्धान्त की रचना की थी।
  • स्कन्दगुप्त ने हूणों को पराजित किया था।
  • शेरशाह ने कबूलियत व पट्टा प्रथा की शुरुआत की थी ।
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का 28 वां अधिवेशन बांकीपुर में हुआ था ।
  • बिहार सोशलिस्ट पार्टी की स्थापना जय प्रकाश नारायण ने 1934 में की थी।
  • जय प्रकाश नारायण ने संपूर्ण क्रांति की घोषणा 5 जून 1974 को की थी।
  • पटना उच्च न्यायालय की स्थापना 1916 में हुई थी ।
  • बिहार क्षेत्र की सर्वप्रथम चर्चा शतपथ ब्राह्मण में मिलती है।
  • महावीर का जन्मस्थान कुण्डाग्राम में है ।
  • अशोक के शासन काल में तृतीय बौद्ध संगीति का आयोजन किया गया था।
  • मगध साम्राज्य के उत्कर्ष का प्रारम्भ बिम्बिसार के अधीन हुआ था ।
  • मेगास्थनीज का 315 ई . पू. में पाटलिपुत्र में आगमन हुआ था ।
  • मेगास्थनीज को सेल्यूकस ने चंद्रगुप्त मौर्य के दरवार में भेजा था ।
  • अर्थशास्त्र के लेखक कौटिल्य थे ।
  • धर्मपाल ने विद्या को प्रश्रय देने के क्रम में विक्रमशिला विश्वविद्यालय की संस्थापना की।
  • बिहार के सुप्रसिद्ध सूफी संत मखदूम साहब के पत्रों का एक संकलन मकतुबते सदी नाम से प्रसिद्ध है।
  • सूफी सम्प्रदाय फिरदौसी बिहार में सर्वाधिक लोकप्रिय रहा।
  • बिहार में तुर्क सत्ता की स्थापना 1198 में हुई थी ।
  • मिथिला के कर्नाट शासकों की राजधानी सिमरांवगढ़ थी।
  • कर्नाट वंश के अंतिम शासक हरि सिंह थे ।
  • शेरशाह द्वारा अफगान शासन की पुनर्स्थापना कन्नौज युद्ध (1540 )के पश्चात हुई थी।
  • गुरु गोविन्द सिंह का जन्म 1666 ई .में हुआ था ।
  • सिख गुरुओं में सर्वप्रथम बिहार का भ्रमण गुरु नानक देव ने किया था ।
  • मुग़ल सम्राट शाह आलम द्वितीय ने ईस्ट इंडिया कंपनी को बंगाली बिहारी व उड़ीसा की दीवानी का अधिकार प्रदान किया था।
  • सैयद अहमद, बहावी आंदोलन का भारत में संस्थापक थे ।
  • मजहरुल हक़ ने सदाकत आश्रम 1920 की स्थापना की थी।
  • मगध की आरंभिक राजधानी राजगीर थी ।
  • मगध साम्राज्य में कलिंग का सर्वप्रथम विलय महापद्मनंद ने किया था ।
  • आर्यभट्ट का सम्बन्ध पाटलिपुत्र नगर से है ।
  • बख्तियार खिलजी ने बिहार में तुर्क शासन की स्थापना की थी ।
  • मोहम्मद नूहानी ने बिहार में नूहानी राज्य की स्थापना की थी।
  • सासाराम को शेरशाह का प्रशासनिक प्रयोगशाला कहा जाता है।
  • दाऊद खां कर्रानी बिहार का अंतिम अफगान सुल्तान था।
  • राजा शिताबरोय बिहार का प्रथम नायब नाजिम था ।
  • बंगाल के नबाब मीर कासिम ने मुंगेर को अपनी राजधानी बनाई ।
  • गवर्नर जनरल लार्ड कार्नवालिस के समय में बिहार में गोलघर का निर्माण हुआ था ।
  • 1917 में चंपारण में गांधीजी का बिहार में पहली बार आगमन हुआ था।
  • स्वामी सहजानंद, किसान आंदोलन के नेता थे।
  • 1912 में बिहार एक अलग प्रान्त बना।
  • 1936 में बिहार व उड़ीसा का विभाजन हुआ ।
  • मुहम्मद यूनुस 1937 में गठित सरकार में भारत के प्रथम मुख्यमंत्री थे।
  • पीर अली ने पटना में 1857 की क्रांति का नेतृत्व किया था ।
  • वहाबी नेताओं में अहमदुल्लाह को आजीवन कारावास की सजा मिली थी।
  • 1908 में मुजफ्फरपुर बमकांड में किंग्सफोर्ड के हत्या का प्रयास किया गया ।
  • मुजफ्फरपुर बमकांड के अभियुक्तों में खुदीराम बोस को फांसी दी गई।
  • मजहरुल हक़ बिहार में होमरूल आंदोलन के संस्थापक थे ।
  • मजहरुल हक़ को 1914 में कांग्रेस द्वारा इंग्लैंड भेजे गए शिष्टमंडल का सदस्य बनाया गया था ।
  • 1919 में बिहार में खिलाफत आंदोलन प्रारम्भ हुआ था ।
  • 1920 में बिहार में असहयोग आंदोलन प्रारम्भ हुआ था ।
  • राजेंद्र प्रसाद ने बिहारी क्षात्र परिषद् का गठन किया था ।
  • बिहार विद्या पीठ का उद्घाटन 6 फ़रवरी 1921 में हुआ था ।
  • बिहार में स्वराज दाल का गठन 1923 में हुआ था ।
  • 1929 में बिहार में किसान सभा का गठन हुआ था ।
  • स्वामी सहजानंद सरस्वती बिहार में किसान सभा के संस्थापक थे ।
  • भारत छोडो आंदोलन के क्रम में पटना गोली कांड 11 अगस्त 1942 को हुआ।
  • मध्यकाल में पटना का नवनिर्माता शेरशाह था ।
  • भगवन बुद्ध को ज्ञान प्राप्ति बोधगया में हुई थी ।
  • प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर, बोध गया में स्थापित है ।
  • सासाराम शेरशाह के मकबरे के लिए प्रसिद्ध है ।
  • विक्रमशिला विश्वविद्यालय के अवशेष भागलपुर के पास है ।
  • संत शरफुद्दीन यहना मनेरी का मक़बरा पटना जिले में है।
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.