Features of Indian Constitution

0 0
Read Time:3 Minute, 6 Second

भारतीय संविधान की विशेषताएँ
भारत के संविधान निर्माताओं ने इस देश की ऐतिहासिक सामाजिक धार्मिक तथा राजनीतिक परिस्थितियों को दृष्टिगत रखकर संविधान का निर्माण किया भारत के संविधान की अपनी विशेषताएं हैं जो हमसे विश्व के अन्य सुविधाओं से अलग करती है यदि इसमें विश्व के महत्वपूर्ण संविधान के सर्वश्रेष्ठ गुणों को समाहित किया गया है तथा भी इसमें भारतीय परिस्थितियों के अनुसार आवश्यक परिवर्तन के साथ ही अन्य सभी धानों के लक्षणों का समावेश भी किया गया भारत के संविधान निर्माता अंबेडकर ने कहा था कि भारतीय संविधान व्यवहारी के इस में परिवर्तन की क्षमता है और इसमें शांति काल में युद्ध काल में देश की एकता को बनाए रखने की भी सामर्थ्य भी हैं

  • भारत का संविधान कैसा है — लिखित एंव विश्व का सबसे व्यापक संविधान
  • भारतीय संविधन का स्वरूप होता है — संरचना में संघात्मक
  • भारत में किस प्रकार का शासन व्यवस्था अपनाई गई है — ब्रिटिश संसदात्मक प्रणाली
  • भारतीय संविधान का अभिभावक कौन है — सर्वोच्च न्यायालय
  • भारत के संविधान में संघीय शब्द की जगह किन शब्दों को स्थान दिया गया है — राज्यों का संघ
  • भारतीय संविधान में कितनी सूचियाँ हैं — 12
  • भारतीय संविधान अपना अधिकार किससे प्राप्त करता है — भारतीय जनता से
  • भारत में वैद्य प्रभुसत्ता किस में निहित है — संविधान में
  • भारतीय संविधान की संरचना किस प्रकार की है — कुछ एकात्मक, कुछ कठोर
  • लिखित संविधान की अवधारणा ने कहाँ जन्म लिया — फ्रांस
  • अध्यक्षात्मक शासन का उदय सर्वप्रथम कहाँ हुआ — संयुक्त राज्य अमेरिका
  • भारतीय संविधान में नागरिकों को कितने मूल अधिकार प्राप्त है — 6
  • भारतीय संघीय व्यवस्था की प्रमुख विशेषता क्या है — संविधान की सर्वोच्चता
  • भारतीय संघवाद व्यवस्था की प्रमुख विशेषता क्या है — संविधान की सर्वोच्चता
  • भारतीय संघवाद को किसने सहकारी संघवाद कहा — जी. ऑस्टिन ने
  • भारत में प्रजातंत्र किस तथ्य पर आधरित है — जनता को सरकार चनने व बदलने का अधिकार है
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.